Peom Shayari In Hindi श्रेणी की प्रविष्ठियां :

Poem & Shayari In Hindi By You.

रौंदी हुई बेटियाँ

घर से बाहर कैसे निकलूं घूरती हैं कई निगाहें मेरे बचपन मे भी जाने कैसे इनको योवन नज़र आये अतृप्त वासना के ये पुजारी मेरी चुनरी …

Itni Si Aashiqui

इश्क़ के बदले ज़हर मिलता तो अच्छा था इंतज़ार और मोहब्बत दोनों मर जाते बेशुमार तो एक दफा हमको भी था “जिंदगी” से और वो हम …

SHOR A POEM ON SILENCE

:शोर: खामोशी ने भी एक दिन ज़ोर से आवाज़ दी लड़ झगड़ कर किसी ने उसे एक फटकार दी मायूसी ने भी जब पलट कर देखा …

पाक हसीन कश्मीर

वो पाक, हसीन कश्मीर की तरह वो खामोश किसी झील की तरह उसकी मुस्कुराहट के कोनों तक शिकारे चलते है। उसकी जिन्दगी है एक मांझी की …

गीत

आओ बच्चो तुम्हे दिखाये हरियाली इस गाँव की, हरियाली जो देख रहे हो मेहनत है किसान की। किसान है हम….. किसान है हम।। 4 धूप छाव …

स्वामी विवेकानंद

१२ जनवरी १८६३ में उस महासूर्य का उदय हुआ, उस कांतिमान बालक को पाकर हर्षित सबका ह्रदय हुआ, ओज भरी वाणी थी जिनकी नरेंद्र दत्त था …