तरुण वीर देश के – देशभक्ति हिंदी कविता | Taruṇa veer desh ke – Patriotic Hindi Poem

BolteChitra 2 – तरुण वीर देश के – देशभक्ति हिंदी कविता | Taruṇa veer desh ke – Patriotic Hindi Poem

तरुण वीर देश के - देशभक्ति हिंदी कविता | Taruṇa veer desh ke - Patriotic Hindi Poem images

हिंदी में :

आज नेत्र तीसरा रुद्र देव का खुले
ताण्डव के तान पर काँप व्योम भू डुले
मानसर पे जो उठी बाहु शीघ्र ध्वस्त हो
बाहु-बाहु वीर की स्वाभिमान से खिले
जाग शंख फूंक रे
शूर यों न चूक रे
मातृभूमि आज फिर है तुझे निहारती। मातृ भू पुकारती ॥२॥देशभक्ति हिंदी कविता

In Hinglish or
Phonetic :

Aaj netr teesaraa rudr dev kaa khule
taaṇaḍaav ke taan par kaanp vyom bhoo ḍaule
maanasar pe jo uṭhee baahu sheeghr dhvast ho
baahu-baahu veer kee svaabhimaan se khile
jaag shnkh foonk re
shoor yon n chook re
maatribhoomi aaj fir hai tujhe nihaaratee. Maatri bhoo pukaaratee ॥2॥Patriotic Hindi Poem

निवेदन :

अगर आपको हमारे तरुण वीर देश के – देशभक्ति हिंदी कविता | Taruṇa veer desh ke – Patriotic Hindi Poem अच्छे लगे या आपको कोईतरुण वीर देश के – देशभक्ति हिंदी कविता | Taruṇa veer desh ke – Patriotic Hindi Poem के Hindi Translation में कोई त्रुटि मिली तो कृपया हमे जरुर अपने comments के माध्यम से बताएं और हमे Facebook और Whatsapp Status पे Share और Like भी जरुर करे जिससे अधिक से अधिक लोगों तक हिंदी केतरुण वीर देश के – देशभक्ति हिंदी कविता | Taruṇa veer desh ke – Patriotic Hindi Poem पहुच सके.अगर आप किसी विशेष विषय पर लेख चाहते है तो कृपया हमे ईमेल या सुझाव फॉर्म के द्वारा बताये.आप फ्री E-MAIL Subscription द्वारा हर नयी पोस्ट को अपने E-MAIL में प्राप्त कर सकते है.

इन्हें भी देखे :   दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन - फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler - Faiz Ahmad Faiz

सभी नयी प्रविष्टिया इमेल में प्राप्त करे ! सब्सक्राइब करे.

Leave a Reply