नयी सदी की सौगात – व्यंगात्मक हिंदी कविता बोलतेचित्र द्वारा | Gift Of The Modern Society – Satire Hindi poetry by BolteChitra

#बोलतेचित्र 2 – नयी सदी की सौगात – व्यंगात्मक हिंदी कविता बोलतेचित्र द्वारा | Gift Of The Modern Society – Satire Hindi poetry by BolteChitra

नयी सदी की सौगात - व्यंगात्मक हिंदी कविता बोलतेचित्र द्वारा | Gift Of The Modern Society - Satire Hindi poetry by BolteChitra images

हिंदी में :

पानी आँखों का मरा, मरी शर्म और लाज!
कहे बहु अब सास से, घर में मेरा राज!!बोलते चित्र

In Hinglish or
Phonetic :

Paanee aankhon kaa maraa, maree sharm aur laaj!
Kahe bahu ab saas se, ghar men meraa raaj!!Bolte Chitra

निवेदन :

अगर आपको हमारे नयी सदी की सौगात – व्यंगात्मक हिंदी कविता बोलतेचित्र द्वारा | Gift Of The Modern Society – Satire Hindi poetry by BolteChitra अच्छे लगे या आपको कोईनयी सदी की सौगात – व्यंगात्मक हिंदी कविता बोलतेचित्र द्वारा | Gift Of The Modern Society – Satire Hindi poetry by BolteChitra के Hindi Translationमें कोई त्रुटि मिली तो कृपया हमे जरुर अपने comments के माध्यम से बताएं और हमे Facebook और Whatsapp Status पे Share और Like भी जरुर करे जिससे अधिक से अधिक लोगों तक हिंदी केनयी सदी की सौगात – व्यंगात्मक हिंदी कविता बोलतेचित्र द्वारा | Gift Of The Modern Society – Satire Hindi poetry by BolteChitra पहुच सके.अगर आप किसी विशेष विषय पर लेख चाहते है तो कृपया हमे ईमेल या सुझाव फॉर्म के द्वारा बताये.आप फ्री E-MAIL Subscription द्वारा हर नयी पोस्ट को अपने E-MAIL में प्राप्त कर सकते है.

इन्हें भी देखे :   अभ्यास की शक्ति पर स्वामी विवेकानंद के उद्धरण/कथन/अनमोल वचन/अनमोल विचार हिंदी में | Swami Vivekananda Ke Vichar & Thoughts On Power Of Practice In Hindi

सभी नयी प्रविष्टिया इमेल में प्राप्त करे ! सब्सक्राइब करे.

2 टिप्पणियाँ

  1. डॉ बंदर

Leave a Reply