निर्वाण षटकम् – आदि शंकराचार्य | ‎Nirvana Shatkam – Adi Shankaracharya

श्लोक 1 – निर्वाण षटकम् – आदि शंकराचार्य | ‎Nirvana Shatkam – Adi Shankaracharya

निर्वाण षटकम् - आदि शंकराचार्य | ‎Nirvana Shatkam - Adi Shankaracharya images

संस्कृत में :

मनोबुद्ध्यहंकार चित्तानि नाहं न च श्रोत्रजिह्वे न च घ्राणनेत्रे।
न च व्योमभूमि-र्न तेजो न वायुः चिदानंदरूपः शिवोऽहं शिवोऽहम्॥१॥निर्वाण षटकम्

हिंदी में :

मैं मन, बुद्धि, अहंकार और स्मृति नहीं हूँ, न मैं कान, जिह्वा, नाक और आँख हूँ। न मैं आकाश, भूमि, तेज और वायु ही हूँ, मैं चैतन्य रूप हूँ, आनंद हूँ, शिव हूँ, शिव हूँ ॥१॥निर्वाण षटकम्

In English :

I am not mind, intellect, ego or repository of memories. I am not ear, tongue, nose or the eyes. I am not space, earth, fire or air. I am of the form of aliveness, eternal bliss, auspiciousness. I am Shiva. ॥1॥Nirvana Shatkam

In Hinglish or Phonetic :

Mano Budhyahankaar Chitani Naaham, Na Cha Shrotra Jihve Na Cha Ghraana netre
Na Cha Vyoma Bhumir Na Tejo Na Vayuh, Chidananda Rupah Shivoham ShivohamNirvana Shatkam

निवेदन :अगर आपको हमारे निर्वाण षटकम् – आदि शंकराचार्य | ‎Nirvana Shatkam – Adi Shankaracharya अच्छे लगे या आपको कोईनिर्वाण षटकम् – आदि शंकराचार्य | ‎Nirvana Shatkam – Adi Shankaracharya के Hindi Translationमें कोई त्रुटि मिली तो कृपया हमे जरुर अपने comments के माध्यम से बताएं और हमे Facebook और Whatsapp Status पे Share और Like भी जरुर करे जिससे अधिक से अधिक लोगों तक हिंदी केनिर्वाण षटकम् – आदि शंकराचार्य | ‎Nirvana Shatkam – Adi Shankaracharya पहुच सके.अगर आप किसी विशेष विषय पर लेख चाहते है तो कृपया हमे ईमेल या सुझाव फॉर्म के द्वारा बताये.आप फ्री E-MAIL Subscription द्वारा हर नयी पोस्ट को अपने E-MAIL में प्राप्त कर सकते है.

इन्हें भी देखे :   10 विचार जो आपको प्रेरित करेंगे अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्र रहने के लिए | 10 Thoughts That Will Motivate You to Stay Focused on Your Goal In Hindi

सभी नयी प्रविष्टिया इमेल में प्राप्त करे ! सब्सक्राइब करे.

Leave a Reply