रामधारी सिंह “दिनकर” का प्रेरणात्मक हिंदी खंड-काव्य – परशुराम की प्रतीक्षा | Inspirational Hindi Poem By Ramdhari Singh “Dinkar” – Parshuram Ki Prateeksha

BolteChitra 2 – रामधारी सिंह “दिनकर” का प्रेरणात्मक हिंदी खंड-काव्य – परशुराम की प्रतीक्षा | Inspirational Hindi Poem By Ramdhari Singh ‘Dinkar’ – Parshuram Ki Prateeksha

रामधारी सिंह "दिनकर" का प्रेरणात्मक हिंदी खंड-काव्य - परशुराम की प्रतीक्षा | Inspirational Hindi Poem By Ramdhari Singh "Dinkar" - Parshuram Ki Prateeksha images

हिंदी में :

वैराग्य छोड़ बाँहों की विभा संभालो
चट्टानों की छाती से दूध निकालो
है रुकी जहाँ भी धार शिलाएं तोड़ो
पीयूष चन्द्रमाओं का पकड़ निचोड़ो
चढ़ तुंग शैल शिखरों पर सोम पियो रे
योगियों नहीं विजयी के सदृश जियो रे!रामधारी सिंह दिनकर

In Hinglish or
Phonetic :

vairaagy chhod baanhon kee vibhaa snbhaalo
chaṭṭaanon kee chhaatee se doodh nikaalo
hai rukee jahaan bhee dhaar shilaa_en todo
peeyooṣ chandramaa_on kaa pakad nichodo
chaḍhx tung shail shikharon par som piyo re
yogiyon naheen vijayee ke sadrish jiyo re!Ramdhari Singh Dinkar

निवेदन :

अगर आपको हमारे रामधारी सिंह “दिनकर” का प्रेरणात्मक हिंदी खंड-काव्य – परशुराम की प्रतीक्षा | Inspirational Hindi Poem By Ramdhari Singh ‘Dinkar’ – Parshuram Ki Prateeksha अच्छे लगे या आपको कोईरामधारी सिंह “दिनकर” का प्रेरणात्मक हिंदी खंड-काव्य – परशुराम की प्रतीक्षा | Inspirational Hindi Poem By Ramdhari Singh ‘Dinkar’ – Parshuram Ki Prateeksha के देवनागरी फॉण्ट में कोई त्रुटि मिली तो कृपया हमे जरुर अपने comments के माध्यम से बताएं और हमे Facebook और Whatsapp Status पे Share और Like भी जरुर करे जिससे अधिक से अधिक लोगों तक हिंदी केरामधारी सिंह “दिनकर” का प्रेरणात्मक हिंदी खंड-काव्य – परशुराम की प्रतीक्षा | Inspirational Hindi Poem By Ramdhari Singh ‘Dinkar’ – Parshuram Ki Prateeksha पहुच सके.अगर आप किसी विशेष विषय पर लेख चाहते है तो कृपया हमे ईमेल या सुझाव फॉर्म के द्वारा बताये.आप फ्री E-MAIL Subscription द्वारा हर नयी पोस्ट को अपने E-MAIL में प्राप्त कर सकते है.

इन्हें भी देखे :   हम देखेंगे(व-यबक़ा-वज्ह-ओ-रब्बिक) - फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | Ham dekhenge(v-yabaqaa-vajh-o-rabbik) - Faiz Ahmad Faiz

सभी नयी प्रविष्टिया इमेल में प्राप्त करे ! सब्सक्राइब करे.

4 टिप्पणियाँ

Leave a Reply