जो बीत गई सो बात गयी – हरिवंश राय बच्चन (हिंदी कविता) | Jo beet ga_ii so baat gayee – Harivansh Rai Bachchan (Hindi Poem)

जो बीत गई सो बात गयी – हरिवंश राय बच्चन (हिंदी कविता) | Jo beet ga_ii so baat gayee – Harivansh Rai Bachchan (Hindi Poem)

जो बीत गई सो बात गई … | Jo beet ga_ii so baat ga_ii …

२७ नवम्बर १९०७ – १८ जनवरी २००३, हिन्दी भाषा के कवि और लेखक. ‘हालावाद’ के प्रवर्तक. उत्तर छायावाद काल के प्रमुख कवियों मे से एक. सबसे प्रसिद्ध कृति मधुशाला. प्रख्यात अभिनेता अमिताभ बच्चन उनके सुपुत्र हैं. इलाहाबाद विश्वविद्यालय में अध्यापन किया. बाद में भारत सरकार के विदेश मंत्रालय में हिन्दी विशेषज्ञ रहे. अनन्तर राज्य सभा के मनोनीत सदस्य. बच्चन जी की गिनती हिन्दी के सर्वाधिक लोकप्रिय कवियों में होती है.

27 navambar 1907 – 18 janavaree 2003, hindee bhaaṣaa ke kavi aur lekhak. ‘haalaavaad’ ke pravartak. Uttar chhaayaavaad kaal ke pramukh kaviyon me se ek. Sabase prasiddh kriti madhushaalaa. Prakhyaat abhinetaa amitaabh bachchan unake suputr hain. Ilaahaabaad vishvavidyaalay men adhyaapan kiyaa. Baad men bhaarat sarakaar ke videsh mntraalay men hindee visheṣagy rahe. Anantar raajy sabhaa ke manoneet sadasy. Bachchan jee kee ginatee hindee ke sarvaadhik lokapriy kaviyon men hotee hai.

इन्हें भी देखे :   अग्निपथ - हरिवंश राय बच्चन (हिंदी कविता) | Agneepath - Harivansh Rai Bachchan (Hindi Poem)

#BolteChitra 1 – जो बीत गई सो बात गई … | Jo beet ga_ii so baat ga_ii …

जो बीत गई सो बात गयी - हरिवंश राय बच्चन (हिंदी कविता) | Jo beet ga_ii so baat   gayee - Harivansh Rai Bachchan (Hindi Poem) images

हिंदी में :

जीवन में एक सितारा था
माना वह बेहद प्यारा था
वह डूब गया तो डूब गया
अम्बर के आनन को देखो
कितने इसके तारे टूटे
कितने इसके प्यारे छूटे
जो छूट गए फिर कहाँ मिले
पर बोलो टूटे तारों पर
कब अम्बर शोक मनाता है
जो बीत गई सो बात गईहरिवंश राय बच्चन

In Hinglish or
Phonetic :

Jeevan men ek sitaaraa thaa
maanaa vah behad pyaaraa thaa
vah ḍaoob gayaa to ḍaoob gayaa
ambar ke aanan ko dekho
kitane isake taare ṭooṭe
kitane isake pyaare chhooṭe
jo chhooṭ ga_e fir kahaan mile
par bolo ṭooṭe taaron par
kab ambar shok manaataa hai
jo beet ga_ii so baat ga_iiHarivansh Rai Bachchan

निवेदन :

अगर आपको हमारे जो बीत गई सो बात गयी – हरिवंश राय बच्चन (हिंदी कविता) | Jo beet ga_ii so baat gayee – Harivansh Rai Bachchan (Hindi Poem) अच्छे लगे या आपको कोईजो बीत गई सो बात गयी – हरिवंश राय बच्चन (हिंदी कविता) | Jo beet ga_ii so baat gayee – Harivansh Rai Bachchan (Hindi Poem) के Hindi Translationमें कोई त्रुटि मिली तो कृपया हमे जरुर अपने comments के माध्यम से बताएं और हमे Facebook और Whatsapp Status पे Share और Like भी जरुर करे जिससे अधिक से अधिक लोगों तक हिंदी केजो बीत गई सो बात गयी – हरिवंश राय बच्चन (हिंदी कविता) | Jo beet ga_ii so baat gayee – Harivansh Rai Bachchan (Hindi Poem) पहुच सके.अगर आप किसी विशेष विषय पर लेख चाहते है तो कृपया हमे ईमेल या सुझाव फॉर्म के द्वारा बताये.आप फ्री E-MAIL Subscription द्वारा हर नयी पोस्ट को अपने E-MAIL में प्राप्त कर सकते है.

इन्हें भी देखे :   हिमाद्रि तुंग श्रृंग से - जयशंकर प्रसाद हिंदी कविता | The sacred motherland - JaiShankar Prasad Hindi Poem

सभी नयी प्रविष्टिया इमेल में प्राप्त करे ! सब्सक्राइब करे.

Leave a Reply