दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler – Faiz Ahmad Faiz

दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler – Faiz Ahmad Faiz

दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – संपूर्ण नज़्म ऑडियो एवं वीडियो के साथ बोलतेचित्र पर | My Heart, My Fellow Traveler – Complete Nazm with lyrics, along with its audio and video, at BolteChitra

13 फरवरी १९११ – 20 नवंबर १९८४, भारतीय उपमहाद्वीप के एक विख्यात पंजाबी शायर. क्रांतिकारी रचनाओं में रसिक भाव (इंक़लाबी और रूमानी) के मेल की वजह से जाना जाता है. सेना, जेल तथा निर्वासन में जीवन व्यतीत किया. कई नज़्म, ग़ज़ल लिखी तथा उर्दू शायरी में आधुनिक प्रगतिवादी (तरक्कीपसंद) दौर की रचनाओं को सबल किया. नोबेल पुरस्कार के लिए भी मनोनीत किया गया. कई बार कम्यूनिस्ट (साम्यवादी) होने और इस्लाम से इतर रहने के आरोप लगे पर उनकी रचनाओं में ग़ैर-इस्लामी रंग नहीं मिलते. जेल के दौरान लिखी गई कविता ‘ज़िन्दान-नामा’ को बहुत पसंद किया गया. उनके द्वारा लिखी गई कुछ पंक्तियाँ अब भारत-पाकिस्तान की आम-भाषा का हिस्सा बन चुकी हैं, जैसे कि ‘और भी ग़म हैं ज़माने में मुहब्बत के सिवा’.

इन्हें भी देखे :   शीशों का मसीहा कोई नहीं - फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | Shishon ka masiha koi nahin - Faiz Ahmad Faiz

13 faravaree 1911 – 20 navnbar 1984, bhaarateey upamahaadveep ke ek vikhyaat pnjaabee shaayar. Kraantikaaree rachanaa_on men rasik bhaav (inqalaabee aur roomaanee) ke mel kee vajah se jaanaa jaataa hai. Senaa, jel tathaa nirvaasan men jeevan vyateet kiyaa. Ka_ii nazam, gazal likhee tathaa urdoo shaayaree men aadhunik pragativaadee (tarakkeepasnd) daur kee rachanaa_on ko sabal kiyaa. Nobel puraskaar ke lie bhee manoneet kiyaa gayaa. Ka_ii baar kamyoonisṭ (saamyavaadee) hone aur islaam se itar rahane ke aarop lage par unakee rachanaa_on men gaair-islaamee rng naheen milate. Jel ke dauraan likhee ga_ii kavitaa ‘zaindaan-naamaa’ ko bahut pasnd kiyaa gayaa. Unake dvaaraa likhee ga_ii kuchh pnktiyaan ab bhaarat-paakistaan kee aam-bhaaṣaa kaa hissaa ban chukee hain, jaise ki ‘aur bhee gam hain zamaane men muhabbat ke sivaa’.

यहाँ 2 बोलतेचित्र दिए है जो उनकी नज्म दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ से है.
Yahaan 2 bolatechitr die hai jo unakee najm Dil-e-man musaaphair-e-man – phaaiza ahamad phaaiza se hai.

BolteChitra 1 – दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler – Faiz Ahmad Faiz

दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन - फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler - Faiz Ahmad Faiz images

हिंदी में :

मिरे दिल, मिरे मुसाफ़िर
हुआ फिर से हुक्म सादर
कि वतन-बदर हों हम तुम
दें गली गली सदाएँ
करें रुख़ नगर नगर का
कि सुराग़ कोई पाएँ
किसी यार-ए-नामा-बर का
हर इक अजनबी से पूछें
जो पता था अपने घर का

सादर = आदेश पालन किया गया. वतन-बदर = देश-निकाला. यार-ए-नामा-बर = साथी संदेशवाहक.फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

In Hinglish or
Phonetic :

Meray dil meray musafir
hua phir sey hukm sadir
k watan badar hon hum tum
dein gali gali sadain
karein rukh nagar nagar ka
ke suraagh koi paein
kisi yar e nama bar ka
har ik ajnabi sey poochein
jo pata tha apney ghar ka

इन्हें भी देखे :   कहाँ जाओगे - फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | Kahaan jaa_oge - Faiz Ahmad Faiz

Saadar = aadesh paalan kiyaa gayaa. Vatan-badar = desh-nikaalaa. Yaar-e-naamaa-bar = saathee sndeshavaahak.Faiz Ahmad Faiz

In English :

My heart, my fellow traveler
It has been decreed again
That you and I be exiled,
go calling out in every street,
turn to every town.
To search for a clue
of a messenger from our Beloved.
To ask every stranger
the way back to our home.Faiz Ahmad Faiz
टीना सानी

निवेदन :

अगर आपको हमारे दिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler – Faiz Ahmad Faiz अच्छे लगे या आपको कोईदिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler – Faiz Ahmad Faiz के Hindi Translationमें कोई त्रुटि मिली तो कृपया हमे जरुर अपने comments के माध्यम से बताएं और हमे Facebook और Whatsapp Status पे Share और Like भी जरुर करे जिससे अधिक से अधिक लोगों तक हिंदी केदिल-ए-मन मुसाफ़िर-ए-मन – फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ | My Heart, My Fellow Traveler – Faiz Ahmad Faiz पहुच सके.अगर आप किसी विशेष विषय पर लेख चाहते है तो कृपया हमे ईमेल या सुझाव फॉर्म के द्वारा बताये.आप फ्री E-MAIL Subscription द्वारा हर नयी पोस्ट को अपने E-MAIL में प्राप्त कर सकते है.

सभी नयी प्रविष्टिया इमेल में प्राप्त करे ! सब्सक्राइब करे.

Leave a Reply